नोट गिनते समय न करे यह काम, माँ लक्ष्मी होती हैं नाराज

लक्ष्मी देवी, भगवान विष्णु की पत्नी को धन की देवी माना जाता है। धन के बिना कुछ भी सम्भव नहीं है। जहाँ धन है वहाँ मन है। कहा जाता है कि माँ लक्ष्मी की पूजा से धन और वैभव की प्राप्ति होती है। समाज में उन्हीं का सम्मान होता है जिनके पास धन है। कहा तो यह भी जाता है कि जिस घर में माँ लक्ष्मी वास करतीं हैं, उस घर में कंगाली कभी नहीं आती। यदि देवी लक्ष्मी रूठ जाएँ तो दरिद्रता को कोई नहीं रोक सकता। हर व्यक्ति यह प्रयास करता है कि दरिद्रता का साया उसके घर परिवार पर न पड़े। लेकिन यदि ऐसा होता है तो यह समझ में नहीं आता कि हमसे क्या गलती हो गई, जिसके चलते दरिद्रता ने हमारे द्वार पर अपने कदम रख दिए। कड़ी मेहनत-मजदूरी करने के बावजूद भी पैसा नहीं आता और जब आता है, तो टिकता नहीं, खर्च हो जाता है। इन सबके पीछे कोई बहुत बड़ा कारण नहीं है, बात बस इतनी सी है कि हम रोजमर्रा के दौरान रुपयों के साथ कुछ ऐसा करते रहते हैं, जिसका अंदाजा हमको खुद पता नहीं होता और लक्ष्मी जी नाराज होकर चली जाती हैं। अगर आप चाहते हैं कि लक्ष्मीजी का आशीर्वाद आप पर बना रहे तो इन बातों का ध्यान अवश्य रखें—

1. पर्स में नोट और पैसों के साथ कभी खाने की चीजें ना रखें। ऐसा करने से धन का अपमान होता है।

2. जब कभी किसी को पैसा या रुपए दें तो कभी फेंक कर ना दें। ऐसा करना लक्ष्मी जी का अपमान करने जैसा होता है, इसलिए हमेशा पैसे या नोट आराम से हाथ में दें।

3. अधिकतर लोग बार-बार हाथ में थूक लगाकर नोट को गिनते हैं, जोकि सही है। ऐसा करने से मां लक्ष्मी का निरादर होता है। नोट गिनते समय आप पानी या पाउडर का इस्तेमाल कर सकते हैं।

4. कभी भी पैसों को अपने सिरहाने या बेड के साइड में रख कर ना सोएं। ऐसा करना लक्ष्मी का अपमान माना जाता है। पैसों को हमेशा किसी साफ-सुथरे स्थान, अलमारी या तिजोरी में, लक्ष्मी की कौड़ी या गोमती चक्र के साथ रखें।

5. हिंदू धर्म की मान्यताओं के अनुसार धन में मां लक्ष्मी का वास होता है इसलिए जमीन पर गिरे हुए पैसे को उठाने से पहले माथे पर जरूर लगाना चाहिए।

आलेख में दी गई जानकारियों को लेकर हम यह दावा नहीं करते कि यह पूर्णतया सत्य एवं सटीक हैं। इन्हें अपनाने से पहले संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

Search Khabar [ सच का सर्च सच के साथ,सर्च खबर आपके पास ]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Become a Journalist
Feedback/Query