डोरंडा कोषागार से 139.35 करोड़ रुपये के गबन के मामले में दोषी करार,पांच साल की सजा

रांची: चारा घोटाले के तहत डोरंडा कोषागार से 139.35 करोड़ रुपये के गबन के मामले में दोषी करार दिये गये राष्ट्रीय जनता दल (RJD) प्रमुख लालू प्रसाद यादव को पांच साल की सजा सुनाई गई है। कोर्ट ने 5 साल की सजा सुनाने के साथ 60 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया है। अब लालू प्रसाद यादव के वकील हाई कोर्ट जाएंगे। वहां बेल पिटीशन फाइल किया जाएगा। इसमें तर्क दिया जाएगा कि लालू प्रसाद यादव ने आधी सजा काट ली है। लालू प्रसाद यादव के वकील ने बताया कि हमने कोर्ट में खराब सेहत का हवाला दिया था। इस वक्त लालू यादव 73 साल के हैं। लालू यादव के अलावा इस मामले में 38 दोषियों को भी विशेष सीबीआई अदालत ने सोमवार को वीडियो कांफ्रेंस के जरिये सजा सुनाई। केन्द्रीय जांच ब्यूरो (CBI) की विशेष अदालत के न्यायाधीश एस के शशि ने 15 फरवरी को इन सभी को दोषी करार देते हुए सजा पर सुनवाई के लिए 21 फरवरी की तारीख तय की थी।

सीबीआई के विशेष अभियोजक बीएमपी सिंह ने को रविवार को बताया कि विशेष अदालत ने शनिवार को निर्देश दिया कि 15 फरवरी को दोषी करार दिये गये 41 आरोपियों में से अदालत में पेश हुए 38 दोषियों को वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से सजा सुनायी गई। उन्होंने कहा कि तीन अन्य दोषी 15 फरवरी को अदालत में उपस्थित नहीं हो सके थे, जिसके चलते अदालत ने तीनों के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया है।

सिंह ने बताया कि जिन 38 दोषियों को सजा सुनायी जानी है उनमें से 35 बिरसा मुंडा जेल में बंद हैं जबकि लालू प्रसाद यादव समेत तीन अन्य दोषी स्वास्थ्य कारणों से राजेन्द्र आयुर्विज्ञान संस्थान (रिम्स) में भर्ती हैं। सीबीआई के विशेष अभियोजक ने बताया कि जेल प्रशासन सभी 38 दोषियों की वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से अदालत में पेशी का प्रबन्ध किया गया था।

उन्होंने बताया कि रिम्स में लालू प्रसाद के अलावा डॉ. केएम प्रसाद तथा यशवंत सहाय भर्ती हैं। बिरसा मुंडा कारागार के अधीक्षक हामिद अख्तर ने बताया कि रिम्स में भर्ती तीनों दोषियों को अदालत में वीडियो कांफ्रेंस के जरिये पेश करने के लिए लैपटॉप की व्यवस्था की गई थी। सिंह ने बताया कि अदालत ने लालू प्रसाद यादव को भारतीय दंड संहिता की धारा 409, 420, 467, 468, 471 के साथ षड्यंत्र से जुड़ी धारा 120बी एवं भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा 13(2)के तहत दोषी करार दिया है।इस मामले में सीबीआई ने कुल 170 आरोपियों के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल किया था जबकि 148 आरोपियों के खिलाफ 26 सितंबर 2005 में आरोप तय किए गए थे। चारा घोटाले के चार विभिन्न मामलों में चौदह वर्ष तक की सजा पा चुके लालू प्रसाद यादव समेत 99 लोगों के खिलाफ अदालत ने सभी पक्षकारों की बहस सुनने के बाद 29 जनवरी को अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था।

सीबीआई के अनुसार, सभी आरोपियों ने षड्यंत्र रच कर और जानबूझ कर सरकारी राशि का गबन किया है। इस कारण अधिकतम सजा देने की मांग की जाएगी। जबकि बचाव पक्ष का कहना है कि अधिकांश लोग बुजुर्ग हो गए हैं और वह कई गंभीर बीमारियों से ग्रसित हैं, इसलिए अदालत से कम-से-कम सजा दिए जाने का आग्रह किया जाएगा।

● लालू प्रसाद बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री

● डॉ आरके राणा पूर्व विधायक सह

● बेक जूलियस पूर्व पशुपालन सचिव

●नित्या नंद कुमार सिंह पूर्व बजट एवं लेखा पदाधिकारी, पटना

● महेंद्र प्रसाद पूर्व ट्रेजरी अधिकारी, डोरंडा रांची

● देवेंद्र प्रसाद श्रीवास्तव सहायक आयुक्त, (कॉमर्शियल टैक्स) पटना

● डॉ राधा रमन सहाय पूर्व आहरण एवं संवितरण अधिकारी, एएचडी, रांची

● डॉ कृष्ण मोहन प्रसाद पूर्व सहायक निदेशक(प्लानिंग), एएचडी, रांची

● डॉ जूनुल भेंगराज पूर्व क्षेत्रीय निदेशक, एएचडी, रांची

● डॉ बृज नंदन शर्मा पूर्व जिला पशुपालन पदाधिकारी, चाईबासा

● डॉ राम प्रकाश राम पूर्व जिला पशुपालन पदाधिकारी, पलामू व जमशेदपुर

● डॉ जसबंत सहाय पूर्व सहायक निदेशक, चाईबासा

● डॉ रवींद्र कुमार सिंह पूर्व टीवीओएम चाईबासा

● डॉ प्रभात कुमार सिन्हा पूर्व टीवीओएम, डालटेनगंज

● डॉ ललितेश्वर प्रसाद यादव पूर्व मैनेजर, पीबीएफ-20, होटवार

● डॉ कृष्ण बिहारी लाल पूर्व मैनेजर, आरपीएफ होटवार

● डॉ अजित कुमार सिन्हा पूर्व सहायक फार्म मैनेजर, होटवार

● डॉ चंदेर किशोर लाल पूर्व सहायक प्रबंधक, होटवार

● डॉ बिरसा उरांव पूर्व सहायक फार्म मैनेजर, होटवार

● डॉ शिव नंदन प्रसाद सहायक निदेशक(पोल्ट्री) जमशेदपुर

● डॉ अर्जुन शर्मा सहायक निदेशक(पोल्ट्री) चाईबासा

● डॉ मुकेश कुमार श्रीवास्तव सहायक निदेशक(पोल्ट्री) चाईबासा

● डॉ बृज नंदन प्रसाद वर्मा सहायक निदेशक, पोल्ट्री फार्म, होटवार

● डॉ नलिन रंजन प्रसाद सिन्हा पूर्व फार्म मैनेजर, होटवार

● डॉ कमल किशोर शमा पूर्व सहायक निदेशक(पोल्ट्री) खूंटी

● रवि नंदन कुमार सिन्हा मेसर्स ए ट्रेडर्स पटना

● मो. सईद मेसर्स एमएस इंटरप्राइजेज रांची

● जगमोहन लाल कक्कड़ मेसर्स नवकेतन इंटरप्राइजेज रांची

● मोहिंदर सिंह बेदी मेसर्स सेमेक्स क्रिजेनिक्स, दिल्ली

● दयानंद प्रसाद कश्यप मेसर्स वैष्णव इंटरप्राइजेज, रांची

● उमेश दुबे मसर्स जय भंडार एंड सप्लाइ, बिहार

● राजेश मेहरा मेसर्स वीकेसी ट्रेडर्स, रांची

● डॉ बिजयेश्वरी प्रसाद सिन्हा मेसर्स एकता वेटेरिनरी वर्क, रांची

● त्रिपुरारी मोहन प्रसाद मेसर्स बिहार सरजिको मेडिको एजेंसी, पटना

● डॉ अजित वर्मा मेसर्स लिटल ओक फार्मास्युटिकल, कोलकाता

● रवि कुमार मेहरा मेसर्स अरके इंटरप्राइजेज, रांची

● महेंद्र कुमार कुंदन मेसर्स कृष्णा ट्रेडर्स, रांची

● राजेंद्र कुमार हरित मेसर्स पूजा रोडलाइन, रांची

आज इको और नेत्र जांच की जाएगी

लालू प्रसाद रिम्स में भर्ती होने के बाद से रात को सही से सो नहीं पा रहे हैं। उनकी बीपी बढ़ी हुई रह रही है, शुगर लेवल भी दवाई देकर मेंटेन की जा रही है। उनके हार्ट की जांच के लिए इको और इसीजी करायी जाएगी। इस बाबत डॉ विद्यापति ने बताया कि लालू प्रसाद को आंख में भी परेशानी है, इसलिए उनकी नेत्र जांच भी सोमवार को की जाएगी। डॉ विद्यापति ने बताया कि उनके हार्ट की स्थिति की जांच के लिए डॉ प्रकाश के नेतृत्व में उनका इकोकार्डियोग्राफी किया जाएगा। इको की रिपोर्ट के आधार पर फिर से उनकी दवाई में संसोधन किया जा सकता है। बता दें कि अबतक लालू प्रसाद के रिम्स में भर्ती होने के बाद से सिर्फ बीपी के दवाई की डोज को बढ़ाई गयी है। लालू प्रसाद डाइट के हिसाब से ही फिलहाल भोजन का सेवन कर कर रहे हैं।

Search Khabar [ सच का सर्च सच के साथ,सर्च खबर आपके पास ]

One thought on “डोरंडा कोषागार से 139.35 करोड़ रुपये के गबन के मामले में दोषी करार,पांच साल की सजा

  • Pingback:डोरंडा कोषागार से 139.35 करोड़ रुपये के गबन के मामले में दोषी करार,पांच साल की सजा - News-Makrant

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Become a Journalist
Feedback/Query