फर्जीवाड़ा कर करीब 1000 करोड़ रुपये निकालने के लिए ‘प्राथमिक तौर पर जिम्मेदार’ सरकारी अधिकारी ‘आजाद घूम’ रहे

पटना : आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव के बड़े बेटे और बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव ने केंद्र सरकार से मांग की है कि उनके पिता लालू प्रसाद यादव को रिहा कर दिया जाए। तेज प्रताप यादव ने कहा कि उनके पिता का स्वास्थ्य हर दिन गिर रहा है.

तेज प्रताप यादव ने कहा कि हम केंद्र सरकार से मांग करते हैं कि इस उम्र में अब हमारे पिता को रिहा कर देना चाहिए क्योंकि उनका स्वास्थ्य हर दिन गिर रहा है और जिन लोगों ने यह काम किया है, वे खुले में घूम रहे हैं। तेज प्रताप ने आगे कहा कि हमारे पिता ने तो मुद्दा को उजागर किया था, उन्हें झूठे मामले में फंसाया गया है।

तेज प्रताप ने कहा कि वो 21 साल की उम्र से जेल जा रहे हैं और जिन लोगों ने ये काम किया है वो लोग आज सदन में बैठते हैं। लालू प्रसाद यादव का रांची स्थित राजेंद्र आयुर्विज्ञान संस्थान (रिम्स) में इलाज चल रहा था लेकिन स्वास्थ्य में गिरावट आने के बाद नई दिल्ली स्थित एम्स स्थानांतरित किया गया है।

तेज प्रताप ने कहा कि मैंने देखा है कि मेरे पिता को बार-बार जेल में डाला जा रहा है, ऐसे में मामले में उन्हें फंसाया गया जिसे उन्होंने ही सुलझाने की कोशिश की थी। उन्होंने आरोप लगाया कि अविभाजित बिहार के विभिन्न जिलों में फर्जीवाड़ा कर करीब 1000 करोड़ रुपये निकालने के लिए ‘प्राथमिक तौर पर जिम्मेदार’ सरकारी अधिकारी ‘आजाद घूम’ रहे हैं जबकि उनके पिता बुजुर्ग होने और कई बीमारियों के बावजूद प्रताड़ित हो रहे हैं।

लालू प्रसाद के धुर विरोधी और राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए तेज प्रताप ने आरोप लगाया कि नीतीश कुमार हत्या के मामले में आरोपी हैं और उम्र कैद की सजा पाते लेकिन बीजेपी के गठबंधन की वजह से ऐसा नहीं हो रहा। गौरतलब है कि चुनाव हिंसा के दौरान हत्या का मामला वर्ष 1990 में दर्ज किया गया था तब कुमार तत्कालीन बाढ़ लोकसभा सीट से सांसद थे। हालांकि, पटना उच्च न्यायालय ने तीन साल पहले ही खारिज कर चुका है।

बता दें कि चारा घोटाले में सजायाफ्ता बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव की सेहत में लगातार गिरावट की वजह से उन्हें रांची स्थित रिम्स से एम्स नई दिल्ली शिफ्ट किया गया है। मेडिकल बोर्ड के अध्यक्ष डॉ विद्यापति ने बताया था कि लालू प्रसाद यादव की किडनी के फंक्शन में लगातार गिरावट आ रही है। मंगलवार को हुई जांच में उनकी क्रिएटनिन लेवल 4.6 पाया गया है। यह एक खतरनाक संकेत है। फिलहाल उनका दिल्ली एम्स में इलाज चल रहा है।

Search Khabar [ सच का सर्च सच के साथ,सर्च खबर आपके पास ]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Become a Journalist
Feedback/Query