जीएसटी विभाग ने विशेष साॅफ्टवेयर बीफा से 1500 करोड़ की फर्जी बिलिंग पकड़ी

सूरत : जीएसटी डिपार्टमेंट ने बिजनेस इंटेलिजेंस एंड फ्रॉड एनालिटिक्स (बीफा) नामक सॉफ्टवेयर की मदद से चालू वित्त वर्ष में 1500 करोड़ रुपए से अधिक का बोगस इनपुट टैक्स घोटाला पकड़ा है। 800 करोड़ रुपए के बोगस इनपुट टैक्स क्रेडिट के मामले तो डायरेक्ट्रेट जनरल ऑफ गुड्स एंड सर्विस टैक्स इंटेलिजेंस डिपार्टमेंट ने ही पकड़े।

इसमें से 250 करो़ड़ रुपए की रिकवरी भी की। दूसरी ओर स्टेट जीएसटी और सेंट्रल जीएसटी तथा डीआरआई सहित अन्य एजेसिंयों ने लगभग 700 करोड़ रुपए के फर्जीवाडे का खुलासा किया है। अब तक इन मामलों में 15 से अधिक लोगों को पकड़ा जा चुका है।

एक ने 577 करोड़ की बोगस बिलिंग की थी
सूरत और दक्षिण गुजरात में कपड़ा, यार्न और कलर केमिकल का बड़े पैमाने पर कारोबार होता है। इस कारण बोगस बिलिंग करने वालों की संख्या ज्यादा है। फर्जीवाड़ा करने वाले कपड़ा, यार्न, कलर केमिकल और लोहे के स्क्रैप आदि में फर्जी बिलिंग बनाते हैं। यह बिल बेचने के एवज में उन्हें एक प्रतिशत कमिशन मिलता है। स्टेट जीएसटी डिपार्टमेंट ने 15 दिन पहले सूरत, भावनगर, राजकोट, जामनगर सहित कुल 73 स्थानों पर छापेमारी की थी। इसमें भावनगर के अफजल सादिक अली सावजानी और प्रांतिज के मीनाबेन रंगसिंग राठोड को पकड़ा। अफजल ने 739 करोड़ के और मीनाबेन ने 577 करो़ड़ की बोगस बिलिंग की थी।

सरकारी योजना का लाभ दिलाने के बहाने लेते हैं दस्तावेज
डिपार्टमेंट ने चालू वित्त वर्ष में 15 से अधिक लोगों को पकड़ा। मास्टर माइंड गरीब या अनपढ़ लोगों को सरकारी योजना का लाभ दिलाने के बहाने उनका आधार कार्ड और पैनकार्ड आदि ले लेते हैं। इन दस्तावेजों से फर्म रजिस्टर्ड कर लेते हैं। जब कभी चोरी पकड़ी जाती है तब जिसके आधारकार्ड और पैनकार्ड होते हैं वे पकड़े जाते हैं।

ऐसे काम करता है बीफा सॉफ्टवेयर बीफा सॉफ्टवेयर
बीफा सॉफ्टवेयर में जैसे ही कोई जीएसटी नंबर डाला जाता है उसकी डिटेल आ जाती है। उसने कहां से माल खरीदा, किसे बेचा, उसके बाद माल खरीदने वाले ने किसे बेचा, अंत में माल पहुंचने तक की पूरी चेन की जानकारी मिल जाती है। अब तक यह काम अधिकारी कागजों के आधार पर करते थे, इसलिए चोरी पकड़ पाना मुश्किल होता था।

Search Khabar [ सच का सर्च सच के साथ,सर्च खबर आपके पास ]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Become a Journalist
Feedback/Query