भारतीयों को तुरंत कीव छोड़ने का आदेश, मिशन गंगा के लिए भारतीय वायुसेना तैयार

नई दिल्ली: यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्रों  को निकालने के लिए नरेंद्र मोदी सरकार (PM Narendra Modi) ने अब भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) को भी मिशन ‘गंगा’ (Mission Ganga) में शामिल होने को कहा है। सूत्रों के अनुसार, वायुसेना जल्दी से फंसे इलाकों से छात्रों को निकाल सकती है। गौरतलब है कि भारत ने सोमवार को चार केंद्रीय मंत्रियों को यूक्रेन के पड़ोसी देशों में भेजने का फैसला किया था ताकि छात्रों की मदद की जा सके और उन्हें यूक्रेन से निकाला जा सके।

आज से ही शुरू हो सकता है ऑपरेशन
सूत्रों ने बताया कि वायु सेना के हवाई जहाजों के जुड़ने से भारतीयों के लौटने की प्रक्रिया गति पकड़ेगी, और उनकी संख्या में भी वृद्धि होगी। साथ ही साथ, भारत से भेजी जा रही राहत सामग्री भी और तेजी से पहुंचेगी। भारतीय वायु सेना के कई C-17 विमान आज ऑपरेशन गंगा के तहत उड़ान शुरू कर सकते हैं।
यूक्रेन में भारतीय नागरिकों तुरंत कीव छोड़ने के निर्देश
भारतीय दूतावास ने कीव में रह रहे भारतीय नागरिकों को तुरंत शहर छोड़ने की सलाह दी है। दूतावास ने कहा नागरिक ट्रेन, बस जैसे भी हो वहां से तुरंत निकले। गौरतलब है कि रूस ने यूक्रेन पर बड़ा हमला शुरू कर दिया है और उसके कई शहरों में भारी बमबारी की है। खतरे को देखते हुए ही भारतीय वायुसेना भी एक्टिव हो चुकी है।

4 मंत्री यूक्रेन के पड़ोसी देश पहुंचे
केंद्र सरकार ने सोमवार को फैसला किया कि केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी, ज्योतिरादित्य सिंधिया, किरेन रिजिजू और वीके सिंह इस अभियान में समन्वय करने और छात्रों की मदद के लिए यूक्रेन के पड़ोसी पहुंच गए हैं। सिंधिया भारतीयों को यूक्रेन के निकालने के अभियान के लिए समन्वय का काम रोमानिया और मोल्दोवा से संभालेंगे, जबकि रिजिजू स्लोवाकिया जाएंगे। पुरी हंगरी गए हैं और जनरल (रि) वीके सिंह भारतीयों को निकालने का प्रबंध करने के लिए पोलैंड पहुंचे हैं।

Search Khabar [ सच का सर्च सच के साथ,सर्च खबर आपके पास ]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Become a Journalist
Feedback/Query