मुख्यमंत्री पशुधन योजना के साथ पशुधन शेड भी लाभुकों को दिया जायेगाः-मंत्री

आज दिनांक 05.10.2021 को सुभाष चन्द्र बोस इंडोर स्टेडियम में कृषि यांत्रिकीकरण प्रोत्साहन कार्यक्रम का विधिवत्त उद्घाटन दीप प्रज्जवलित करमंत्री कृषि, पशुपालन सहकारिता विभाग बादल पत्रलेख द्वारा किया गया। इस दौरान लोगों को संबोधित करते हुए कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने कहा कि किसानों के हित में सरकार लगातार बेहतर कदम उठा रही है। इस उद्देश्य से किसानों के हित में उनके आधारभूत संरचनाओं को बेहतर करने हेतु कृषि से संबंधित विभिन्न योजनाओं का लाभ दिया जा रहा है। किसानों की आय बढ़ाने के लिए सरकार लगातार प्रयासरत है। इस दौरान उन्होंने कहा कि किसानों को लाभान्वित व जागरूक करने के लिए लगातार ऐसे कार्यक्रमों का आयोजन राज्य भर में किया जा रहा है। साथ हीं उन्होंने कृषि विभाग से संबंधित विभिन्न योजनाओं की जानकारी के साथ कृषकों से अपनी जरूरत के हिसाब से योजनाओं के लाभ लेने की बात कही। साथ ही उन्होंने कहा कि झारखंड सरकार ने करीब 9 लाख किसानों के 50000 रुपये तक की कर्ज राशि माफ करने का फैसला किया है। वहीं पांच लाख से ज्यादा केसीसी आवेदन करने वाले किसानों को प्राथमिकता के साथ सरकार ऋण देगी। आज झारखण्ड कृषि ऋण माफी योजना के तहत लगभग 2 लाख 56 हजार कृषकों का ऋण माफ किया जा चुका है। इस कड़ी में देवघर जिले में उपायुक्त श्री मंजूनाथ भजंत्री द्वारा बेहतर कार्य किया है, जो कि सराहनीय है।

इसके अलावे माननीय मंत्री बादल पत्रलेख ने कहा कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी के नेतृत्व में राज्य के किसानों से जुड़ी कई योजनाओं का संचालन किया जा रहा है, जिसमें बीज, खाद वितरण के साथ कृषि यांत्रिकीकरण पर भी जोर दिया जा रहा है। इन कृषि यंत्रों के लिए 4 लाख रुपये सरकार के द्वारा अनुदान के रूप में दिये जा रहे हैं, ताकि महिला समूह की दीदियों को कृषि के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाया जा सके। साथ ही उन्होंने कहा कि आगामी 4 साल में 24 लाख कृषि से जुड़े लोगों को सहायता पहुंचाने का लक्ष्य है। महिलाओं को एम्पावर करने की दिशा में छोटे-छोटे महिला समूह को कृषि क्षेत्र से जोड़ा जा रहा है। वहीं गाँव की महिलाओं को कृषि के क्षेत्र जोड़ने के उदेश्य से 80 प्रतिशत अनुदान पर योजनाओं को लाभ राज्य सरकार द्वारा दिया जा रहा है। वर्तमान में झारखण्ड राज्य को पशुपालन के क्षेत्र में नई पहचान दिलाने के उदेश्य से माननीय मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन की अगुवाई में योजना को बढ़ावा दिया जा रहा है, ताकि कृषि के साथ पशुपालन पर भी विशेष रूप से ध्यान दिया जा सके, क्योंकि कृषि और पशुपालन एक दूसरे से जुड़े हुए है। अगर पशुपालन को बढ़ावा मिलेगा तो कृषि के क्षेत्र में विकास होगा और किसानों का इससे में आय भी वद्धि होगी।

■ कोविड नियमों के साथ कोविड टीकाकरण अभियान में अपनी भागीदारी अवश्य करें सुनिश्चितः-उपायुक्त….
कृषि यांत्रिकीकरण प्रोत्साहन कार्यक्रम के तहत सभी का स्वागत करते हुए उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी मंजूनाथ भजंत्री ने कहा कि किसानों को आत्मनिर्भर और सशक्त बनाने की दिशा में जिला प्रशासन की टीम कार्य कर रही है, ताकि अंतिम पायदान के कृषकों को भी पारदर्शी तरीके से योजनाओं का लाभ मिल सके। इसके अलावे उपायुक्त ने आने वाले त्यौहारों को देखते हुए सभी से अपील करते हुए कहा कि त्यौहारों के मौसम को लेकर हम सभी को और भी सतर्क व सुरक्षित रहने की आवश्यकता है। वर्तमान में कोरोना संक्रमण का खतरा पूरी तरह से टला नहीं है। ऐसे में कोविड नियमों के अनुपालन वह कोविड टीका अत्यंत महत्वपूर्ण है। वहीं त्यौहारों में भीड़-भाड़ होने की संभावना के पश्चात संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ सकता है ऐसे में कोविड नियमों को पालन करते हुए मास्क का उपयोग, सामाजिक दूरी, साफ-सफाई पर विशेष रूप से ध्यान रखें, ताकि संक्रमण फैलने का किसी प्रकार का खतरा न रहे। दूसरी ओर पूर्व में भी हम सबों ने देखा है कि पर्व के बाद संक्रमण में तेज वृद्धि दर्ज की गई। इसका प्रमुख कारण कम कोविड नियमों का उल्लंघन करना। वर्तमान में यह जरूरी है कि हम त्योहार का स्वागत भावनात्मक होकर खूब धूमधाम से नहीं बल्कि सावधानी पूर्वक करें। दूसरी ओर सबसे महत्वपूर्ण है कि कोविड टीकाकरण अभियान में एक-दूसरे जागरूक करते हुए अपनी भागीदारी अवश्य सुनिश्चित करें।

■ कृषि यांत्रिकीकरण प्रोत्साहन योजना के तहत लाभुकों के बीच निम्नलिखित परिसम्पतियों का किया गया वितरण….

इसके अलावे कार्यक्रम के दौरान वित्तीय वर्ष 2021-22 में कृषि यांत्रिकीकरण प्रोत्साहन योजना अंतर्गत 80 प्रतिशत (अधिकतम 400000) अनुदानित दर पर बजरंगी आजिविका सखी मंडल ग्राम-झारखण्डी प्रखण्ड-मोहनपुर, राहत स्वयं सहायता समूह दुधानी प्रखण्ड-पालोजोरी, प्रवीण आजिविका सखी मंडल ग्राम-नवाडी प्रखण्ड-पालोजोरी, माँ काली आजिविका सखी मंडल सुखजोरा प्रखण्ड-सारठ, राधा आजिविका सखी मंडल घाघरा प्रखण्ड-सारठ, गुलाब आजिविका सखी मंडल बेलटिकरी प्रखण्ड-सारवां, माँ सरस्वती आजिविका सखी मंडल डकाय प्रखण्ड-सारवां, माता आजिविका सखी मंडल दोंदिया नावाडीह, प्रखण्ड-सोनारायठाढ़ी, मां गंगा आजिविका सखी मंडल मानिकपुर प्रखण्ड-देवघर, चांदनी आजिविका राखी मंडल अलखजारा देवघर, जालेश्वर जलछाजन समिति पैसारपर प्रखण्ड-देवीपुर को मिनी ट्रैक्टर एवं उनके सहायक कृषि यंत्र का वितरण किया गया। साथ हीं जय लक्ष्मी आजिविका सखी मंडल सिमराकिता मोहनपुर एवं बाबा बासुकिनाथ आजिविका सखी मंडल रक्ति, सारवां को पावर टीलर एवं उनके सहायक कृषि यंत्र प्रदान किये गये। आगे देवघर प्रखण्ड के पांच महिला कृषकों के बीच सरसों बीज का मिनी कीट के अलावा मुख्यमंत्री पशुधन योजना के तहत पांच महिला लाभुकों को दुधारू मवेशी प्रदान किया गया। बकरा विकास योजना के तहत तीन लाभुकों के बीच बकरा वितरण किया गया। साथ हीं अनुदान राशि के तहत डीप बोरिंग कार्य पूर्ण होने के पश्चात दो कृषकों को प्रमाण पत्र दिया गया।

इस दौरान उपरोक्त के अलावे उप विकास आयुक्त श्री संजय सिन्हा, जिला भूमि संरक्षण पदाधिकार, जिला कृषि पदाधिकारी, जिला गव्य विकास पदाधिकारी, जिला मत्स्य पदाधिकारी, जिला उद्यान पदाधिकारी, डीपीएम जे0एस0एल0पी0एस0, उप परियोजना निदेशक आत्मा, के0वी0के0 सुजानी, आत्मा, देवघर से संबंधित अधिकारी, कर्मी व जनप्रतिनिधि आदि उपस्थित थे।

Search Khabar [ सच का सर्च सच के साथ,सर्च खबर आपके पास ]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Become a Journalist
Feedback/Query